समाज की व्यवस्था, भाग से परिचय
 




अनुवाद:

'العربية / al-ʿarabīyah
Bahasa Indonesia
বাংলা / Baṅla
Български език
Català
中文 / Zhōngwén
Deutsch
English
Español
Ewe
Euskara
Filipino/Tagalog
Français
Galego
Ελληνικά / Elliniká
हिन्दी / hindī
Italiano
日本語 / Nihongo
한국어 / Hangugeo
بهاس ملايو / Bahasa Melayu
Polszczyzna
Português
Română
Русский
తెలుగు /Telugu
ไทย / Thai
Tiếng Việt
Türkçe
اردو / Urdu

                                        

अन्य पृष:

मॉड्यूल

साइट मानचित्र

संकेत शब्द

संपर्क

उपयोगिता दस्तावेज़

उपयोगिता लिंक


समाज की व्यवस्थ

कर्म की तैयार

के द्वारा फिल बार्टले, पीएच.डी.

translated by Parveen Rattan


अंश (हब) का परिचय

विभिन्न अंश व्यवस्था भाग के

संस्था का संगठन - प्रभावशाली कार्य की ओर

प्राय: सभी शिक्षक जानते हैं कि कक्षा की पढ़ाई, लेक्चर सुनना, किताबें पढ़ना, आदि तरीकों से जो ञान प्राप्त होता है उससे कहीं उत्तम तरीका है अगर विद्यार्थी सीखें खुद अपने अनुभव से.

आपका लक्ष्य है कि समाज की अधिकारी संस्था सही शिक्षण और सही व्यवस्था की मदद से और मज़बूत बने. इस भाग में आपको दिखाया जायेगा कि कैसे क्रिया और प्रशिक्षण को जोड़ा जाता है.

पूरे समाज में से आप को अधिकारियों का चयन करना है. (देखिये प्रशिक्षण से व्यवस्था).  कई अलग नाम दिये जा सकते हैं , जैसे CBO अधिकारी, CIC (समाज कार्य-कर्ता समिति), प्रयोजन समिति, या विकास समिति. फिर इन अधिकारियों के साथ बैठ कर एक सम्पूर्ण सह-सम्मत निरीक्षण किया जाता है सभी स्तिथियों का (समस्याओं और साधनों को ध्यान में रखते हुए) जो समाज में मौजूद है.

सम्पूर्ण दिमागी-योगदान उत्पन्न करने की विधियों का उपयोग करते हुए, आप समिति को सिखाइये कि योजना कार्य-प्रणाली किस तरह तैयार की जाती है. इसके बाद अधिकारियों को अपने निष्कर्ष समाज के सामने प्रस्तुत करने का सही मार्ग बतायें. फिर सबके योगदान से, सबकी राय ध्यान में रखते हुए, समाज इनमें में सुधार करती है (अगर ज़रूरत मह्सूस हो तो) और कार्य-प्रणाली को अपनी सहमति देती है .

आपको यह भी समझाना ज़रूरी है कि बाहर से मदद लेने में (जैसे प्रस्ताव तैयार करने की कला), में डर है कि वह दूसरों पर ही निर्भर रहेंगे.

उन्हें निश्चित रूप से निरीक्षण का मह्त्व भी समझायें, और यह कैसे किया जाना चाहिये. और अन्त में उनकी मदद कीजिये कर्म के लिये तैयार होने में ;उनके स्वयं के कार्य.

––»«––

सामुदायिक बैठक; योजना की तैय्यारी करते हुए


सामुदायिक बैठक; योजना की तैय्यारी करते हुए

 सबसे आसान रास्ता चुनने से, सारी नदीया और थोडे लोग टेढे हो जाते है।


अगर आप इस साईट से विषयवस्तु का उपयोग करते है, तो कॄपा कर के लेखक को श्रेय दे
और इस साईट का उल्लेख करे www.scn.org/cmp/

© कॉपीराइट १९६७, १९८७, २००७ फिल बार्टले
वेबडिजाईनर लुर्ड्स सदा
––»«––
आखरी अपडेट: २०.०७.२०११

 मुख्य पृष्ठ